कोरोना से कैसे ठीक हुए ट्रम्प ?

डोनाल्ड ट्रम्प ने Regeneron की दवा REGN-COV2 को बताया कोरोना का इलाज

कोरोना महामारी पूरी दुनिया भर में फैली हुई है हाल ही अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प भी इस महामारी का शिकार हुए | जब ट्रंप के कोरोना पॉजिटिव होने की बात सामने आई थी तो दुनिया चौंक गई थी। हालांकि, उसके बाद से राष्ट्रपति ट्रंप ने लोगों को हैरान करने का सिलसिला तेज कर दिया है। पहले वह इलाज के लिए अस्पताल गए, फिर तीन दिन के अंदर लौट आए। यही नहीं, वापस आने के बाद उन्होंने लोगों से कहा कि कोविड से डरने की जरूरत नहीं है जबकि साफ देखा गया कि उन्हें सांस लेने में तकलीफ हो रही थी। अब ट्रंप ने दावा किया है कि उन्हें दी गईं दवाओं ने इतना ज्यादा अच्छा असर दिखाया है कि वह उन्हें अमेरिका के लिए मुफ्त करने वाले हैं। ट्रंप ने बुधवार को एक वीडियो ट्वीट करते हुए बताया कि उन्हें दूसरी दवाओं के साथ Regeneron REGN-COV2 दी गई। उन्होंने कहा कि यह सबसे अहम थी और इससे उन्हें काफी अच्छा महसूस हुआ। उन्होंने यहां तक कहा कि यह दवा उनके हिसाब से कोरोना का इलाज है। ट्रंप ने इस बार यहां तक कहा कि उनको कोरोना होना भगवान का आशीर्वाद था जिसकी वजह से उन्होंने इस दवा के बारे में सुना और फैसला किया कि वह इसका इस्तेमाल करना चाहते हैं। अब वह इसे मुफ्त करने वाले हैं।

बता दें कि ट्रंप को दी गई एक्सपेरिमेंटल ऐंटीबॉडी दवा को कोविड-19 इन्फेक्शन से लड़ने में सबसे असरदार दवाओं में से एक माना गया है। इसे बनाने वाली Regeneron Pharmaceuticals Inc का कहना है कि कंपनी ने IV के जरिए खास प्रावधानों के तहत ट्रंप को एक खुराक दी। दरअसल, अभी इस पर स्टडी चल ही रही है लेकिन उसको इमर्जेंसी में इस्तेमाल करने की इजाजत दे दी गई है। इसका इस्तेमाल इन्फेक्शन रोकने और इलाज करने के लिए किया जा रहा है।
इससे पहले कंपनी ने कहा था कि 275 मरीजों पर की गई स्टडी के कुछ नतीजों में पाया गया था कि इसकी मदद से लक्षणों का समय कम किया जा सका था और मरीजों के अंदर वायरस कम भी किया जा सका था। ये टेस्ट ऐसे मरीजों पर किया गया था जिन्हें अस्पताल में भर्ती करने की जरूरत नहीं थी। हालांकि, अब तक स्टडी पूरी नहीं हुई है और अभी इसके नतीजे कहीं प्रकाशित नहीं हुए हैं।
ट्रंप को इसके अलावा और भी कई दवाएं दी गई थीं। राष्ट्रपति के फिजिशन डॉ. शॉन कॉनली ने बताया था कि उन्हें ऐंटीवायरल दवा रेमेडेसिविर मिलिट्री अस्पताल में दी गई थी। Gilead Sciences ने दिखाया है कि कुछ मरीज इससे तेजी से ठीक हुए हैं। वहीं, कॉनली ने यह भी बताया कि ट्रंप को जिंक, विटामिन डी, ऐंटैसिड फैमोटाइडीन, मेलाटोनिन और ऐस्पिरिन भी गई थी। हालांकि, इनमें से किसी का भी असर कोविड-19 के खिलाफ अभी तक देखा नहीं गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close